Connect with us

Daily Tech News

अमेरिका में हर दो में से एक अप्रवासी भारतीय पिछले एक साल में हुआ भेदभाव का शिकार- रिपोर्ट में का दावा

Published

on


NRI Face Discrimination in US: अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के नागरिकों को भी लगातार भेदभाव का सामना करना पड़ता है. बुधवार को रिलीज हुए एक सर्वे के अनुसार अमेरिका में भारतीय मूल के हर दो में से एक नागरिक को इसका सामना करना पड़ता है. हाल ही में अमेरिका में नस्ली भेदभाव की कई घटनाओं के सामने आने के ये सर्वे किया गया था. यहां अप्रवासी नागरिकों की संख्या के मामले में भारत दूसरे नंबर पर है. साथ ही इस सर्वे के अनुसार यहां इनके बीच आपस में सामाजिक ध्रुवीकरण भी बहुत ज्यादा हावी है.

इस रिपोर्ट को ‘भारतीय-अमेरिकियों की सामाजिक वास्तविकता’ नामक शीर्षक से प्रकाशित किया गया है. ये ऑनलाइन सर्वे Carnegie Endowment for International Peace, Johns Hopkins-SAIS और University of Pennsylvania ने मिलकर किया है. इस सर्वे में भारतीय मूल के 1,200 अमेरिकी नागरिकों को शामिल किया गया है और इसे साल 2020 में एक सितंबर से 20 सितंबर के बीच रिसर्च एंड एनलिटिक्स फर्म YouGov के साथ मिलकर तैयार किया गया है. 

रंग-रूप के आधार पर होता है सबसे ज्यादा भेदभाव 

रिपोर्ट के अनुसार, “अमेरिका में रह रहे भारतीय मूल के नागरिकों को लगातार भेदभाव का सामना करना पड़ता है. इनमें से रंग-रूप के आधार पर सबसे ज्यादा भेदभाव किया जाता है और पिछले एक साल के अंदर हर दो में से एक भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक को इसका सामना करना पड़ा है.” इनमें वो भारतीय मूल के लोग भी शामिल हैं जिनका जन्म अमेरिका में ही हुआ है. रिपोर्ट के अनुसार, “इस सर्वे में एक बेहद चौंकाने वाली बात सामने आई है. भारतीय मूल के ऐसे नागरिक जिनका जन्म अमेरिका में ही हुआ है को इस तरह की भेदभाव की घटना का सबसे ज्यादा सामना करना पड़ता है.”

अमेरिका में भी राजनीतिक ध्रुवीकरण है हावी 

इस रिपोर्ट में साथ ही कहा गया है कि भारतीय-अमेरिकियों के बीच ध्रुवीकरण अमेरिका के समाज में चल रहे ट्रेंड को दिखाता है. इसमें कहा गया है कि, ‘व्यक्तिगत स्तर पर धार्मिक ध्रुवीकरण कम है जबकि भारत और अमेरिका दोनों देशों में राजनीतिक आधार पर पक्षपातपूर्ण ध्रुवीकरण के मामलें बेहद ज्यादा हैं. हालांकि ये एक जैसा नहीं है डेमोक्रेट पार्टी का समर्थन करने वाले रिपब्लिकंस पार्टी का समर्थन करने वाले भारतीय मूल के नागरिकों को करीबी दोस्त बनाने से हिचकते हैं. जबकि रिपब्लिकंस पार्टी का समर्थन करने वाले भारतीय मूल के नागरिक ऐसा नहीं सोचते.”

रिपोर्ट के अनुसार ज्यादातर अप्रवासी भारतीय अपने ही समुदाय में शादी करना पसंद करते हैं. 10 लोगों में से 8 लोगों का जीवनसाथी भारतीय मूल का है. वहीं अमेरिका में जन्मे प्रवासी भारतीय नागरिक की भारतीय मूल के जीवनसाथी से शादी की संभावना चार गुणा अधिक होती है. हालांकि सर्वे के अनुसार ये भारतीय मूल के अमेरिका में जन्मे व्यक्ति से शादी करना ही पसंद करते हैं.

अमेरिका में भारतीय मूल के नागरिकों की कुल आबादी के एक प्रतिशत से अधिक है और सभी पंजीकृत मतदाताओं की संख्या के एक प्रतिशत से कम है. देश में भारतीय-अमेरिकी दूसरा सबसे बड़ा प्रवासी समूह है. 2018 के आंकड़ों के अनुसार, अमेरिका में भारतीय मूल के 42 लाख लोग रह रहे हैं.

यह भी पढ़ें 

Government Guidelines for Children: कोरोना संक्रमित बच्चों के लिए नई गाइडलाइन जारी, रेमडेसिविर का इस्तेमाल ना करने के निर्देश

COVID-19 Vaccination: राहुल गांधी बोले- ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराए बिना भी सेंटर पर हर शख्स को लगे टीका



Source hyperlink

Daily Tech News

Mi Watch Revolve Active First Impressions: Time to Get Active?

Published

on


The Mi Watch Revolve was launched in September final 12 months priced at Rs. 10,999, but it surely has not too long ago obtained a value reduce to Rs. 7,999. It didn’t have any voice assistant on board, and its options didn’t actually assist it stand out. Xiaomi has now launched a brand new product referred to as the Mi Watch Revolve Active, and it brings Alexa help together with SpO2 monitoring, which is a helpful characteristic given the present pandemic scenario. Has Xiaomi made a greater wearable? And must you select the Mi Watch Revolve Active over the earlier mannequin? I spend a while with this new watch to search out out.

Mi Watch Revolve Active Price in India

The Mi Watch Revolve Active is priced at Rs. 9,999 in India. As an early chook provide, Xiaomi is offfering a Rs. 1000 low cost which brings the worth all the way down to Rs. 8,999. The Mi Watch Revolve Active additionally has an HDFC Bank provide for Rs. 750, which takes the worth all the way down to Rs. 8,249. You don’t get sizing choices but it surely does are available in Beige, Black, and Navy Blue, with matching straps.

The Mi Watch Revolve Active has a 1.39-inch AMOLED show, and on condition that it is available in just one dial measurement, this system would possibly look massive in your wrists when you’ve got small fingers. The show is crisp and it additionally has an always-on mode. I discovered the show brightness to be ok, and this watch has an ambient mild sensor that may tweak brightness robotically.

The watch physique feels plasticky, however it’s tremendous mild at simply 32g (with out straps). The watch is waterproof upto 5 ATM of stress which ought to assist it survive the rigours of each day use. There are two buttons on the appropriate aspect of the watch case. The higher one brings up the app drawer on the watch’s show, whereas the second is a shortcut for exercise monitoring. Both of them have good clicky suggestions and you will not be second-guessing an enter. The left aspect is totally clean.

The Mi Watch Revolve Active has two buttons on the case

 

Turn the watch round and you may see a bunch of sensors on the underside. These are for coronary heart fee, SpO2, and stress monitoring. It additionally has connectors for charging the battery. I had a Beige unit of the Mi Watch Revolve Active, which has a brown again.

This watch makes use of 22mm bands, and the one included within the field has fast launch pins so you may pop it off with none instruments. Xiaomi says it can provide totally different straps as equipment for the Mi Watch Revolve Active, and it is best to be capable to swap them fairly simply. The strap materials is mushy to the contact and has a textured end. You get an everyday pin buckle on the strap to safe it in your wrists. I discovered it a bit onerous to put on the watch due to this texture, but it surely additionally felt safe as soon as in place.

You can pair the Mi Watch Revolve Active to a smartphone utilizing the Xiaomi Wear app. This app may be very straightforward to make use of and setting the watch up to be used for the primary time is a clean course of. Once paired, the app can be utilized to test totally different metrics that the watch information. You additionally want the app to check in to Amazon to get Alexa engaged on the Mi Watch Revolve Active. I did use Alexa for a short while, and located performance to be a bit restricted – extra on that within the full evaluation.

With the Xiaomi MI Watch Revolve Active, it is possible for you to to trace coronary heart fee, sleep, SpO2, stress, and exercises. The Watch additionally has built-in GPS to trace outside exercises, and a barometer to gauge stress. The Mi Watch Revolve Active has a 420mAh battery, which Xiaomi claims can final for upto 14 days and be charged in lower than two hours utilizing the provided charger.

mi watch revolve active sensors Xiaomi Mi Watch Revolve Active First Impressions

The sensors on the underside of the Mi Watch Revolve Active

 

I discovered the watch interface to be fairly much like that of the Mi Watch Revolve, which I’ve reviewed earlier. This new watch was fast to wake its show after I raised my hand. Swiping down from the highest reveals the notifications from a paired smartphone, whereas swiping up from the homescreen brings up the fast toggles. Swiping left and proper from the watch face reveals totally different metrics corresponding to coronary heart fee, sleep time, and stress, amongst others.

The Mi Watch Revolve Active, as its identify suggests, is a fitness-focused product. Xiaomi appears to have additionally managed to pack in all of the necessities. So ought to the Mi Watch Revolve Active be the health watch of your alternative? Stay tuned for the total evaluation to search out out.



Source hyperlink

Continue Reading

Daily Tech News

Battlegrounds Mobile India को बैन करने की मांग, लॉन्चिंग में हो सकती है देरी

Published

on


PUBG के फैंस लंबे समय से इसके इंडियन वर्जन Battlegrounds Mobile India का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन इन फैंस को इसके लॉन्च से पहले झटका लग सकता है. दरअसल कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने केंद्रीय आईटी और संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद को चिट्ठी लिखकर इस गेम को बैन करने की मांग की है. उनका मानना है कि यह गेम भारत की राष्ट्रीय संप्रभुता और सुरक्षा के लिए खतरा साबित हो सकता है. साथ ही युवाओं के लिए भी ये नुकसानदायक है 

फिर उठी बैन करने करने की मांग
CAIT ने बैन करने की मांग के साथ ही गूगल से Battlegrounds Mobile India डेवलपर कंपनी क्राफ्टन को गेम के लिए गूगल प्ले स्टोर प्लेटफॉर्म यूज न करने की परमिशन नहीं देने के लिए भी कहा है. CAIT के मुताबिक बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया में पबजी जैसे फीचर्स हैं और इससे भारत की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है. गेम से भारत के लाखों यूजर्स के डाटा लीक हो सकता है.

बैन करने पर ये है सरकार का रुख
जेएनयू में सहायक प्रोफेसर डॉ गौरव त्यागी की ओर से दायर एक आरटीआई को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) और गृह मंत्रालय (एमएचए) की ओर से जवाब मिला है. जवाब में कहा गया है कि किसी भी गेम को लॉन्च होने से पहले बैन नहीं किया जा सकता है. आरटीआई का जवाब देते हुए आईटी मंत्रालय ने कहा कि सरकार इस गेम को भारत में लॉन्च होने से नहीं रोक सकती है. हालांकि सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 69ए के नियम के तहत खेल शुरू होने के बाद मंत्रालय इस गेम पर प्रतिबंध लगा सकता है.

50 लाख के पार हुआ डाउनलोड
बता दें कि Battlegrounds Mobile India का अर्ली एक्सेस हाल ही में एंड्रॉयड यूजर्स के लिए अवेलेबल करवाया गया था. गेम बनाने वाली कंपनी क्राफ्टन की मानें तो इसके अर्ली एक्सेस में 50 लाख डाउनलोड से ज्यादा हो गए हैं. 

ये भी पढ़ें

Battlegrounds Mobile India: गेम का बीटा वर्जन हुआ अवेलेबल, सिर्फ इन्हें मिला खेलने का मौका

Windows 11 Launching: Microsoft इस दिन लॉन्च करेगी Windows 11, मिल सकते हैं ये खास फीचर्स



Source hyperlink

Continue Reading

Daily Tech News

Bitcoin Steadies in Asia Trading After Monday’s Plunge

Published

on


Bitcoin stabilised in Asian buying and selling on Tuesday morning a day after a press release from China’s central financial institution reaffirming the continued crackdown on cryptocurrencies within the nation despatched the world’s largest token to a two-week low.

Bitcoin was final up 3.17 p.c at $32,600 (roughly Rs. 24.16 lakhs), having dropped greater than 10 p.c on Monday. As of June 22 (11:16am IST), Bitcoin worth in India stood at Rs. 24.44 lakhs. Ether, the second-biggest cryptocurrency, was up 3.54 p.c at $1,950 (roughly Rs. 1.44 lakhs) after hitting a five-week low the day earlier than. As of June 22 (11:16am IST), Ether worth in India stood at Rs. 1.46 lakhs.

Monday’s sell-off was sparked by an announcement from the People’s Bank of China saying it had summoned China’s largest banks and fee corporations urging them to crack down tougher on cryptocurrency buying and selling.

Beijing has sharply ratcheted up its marketing campaign up to now few weeks, since China’s State Council, or cupboard, mentioned final month it could tighten restrictions on Bitcoin buying and selling and mining.

However, Tuesday’s worth strikes urged Asian merchants thought markets in a single day had overreacted to the information.

“A Chinese ban on cryptocurrencies isn’t something new. The one that came out yesterday was almost a copy of a previous annoucement, earlier this year,” mentioned Justin d’Anethan, head of alternate gross sales at crypto alternate operator EQONEX.

“As always, leverage, large participants and fundamental events mean crypto can move dramatically,” he mentioned.

Last month, three trade associations issued a ban on crypto-related monetary companies, however the our bodies are a lot much less highly effective than the PBOC.

Market individuals mentioned on the time that the sooner ban can be exhausting to implement as banks and fee corporations would wrestle to establish crypto-related funds.

However, following Monday’s PBOC assertion, banks together with Agricultural Bank of China, and Alipay, the ever-present fee platform owned by fintech big Ant Group, mentioned they’d step up monitoring to root out crypto transactions.


Interested in cryptocurrency? We focus on all issues crypto with WazirX CEO Nischal Shetty and WeekendInvesting founder Alok Jain on Orbital, the Gadgets 360 podcast. Orbital is out there on Apple Podcasts, Google Podcasts, Spotify, Amazon Music and wherever you get your podcasts.



Source hyperlink

Continue Reading

Trending