Connect with us

Daily Tech News

Cryptocurrency-Related Money Laundering Ring Busted by China

Published

on


Police in China arrested over 1,100 folks suspected of utilizing cryptocurrencies to launder unlawful proceeds from phone and Internet scams in a latest crackdown, the Ministry of Public Security stated.

The arrests got here as authorities in China step up their crackdown on cryptocurrency buying and selling. Last month, three trade our bodies banned crypto-related monetary and fee providers, and the State Council, China’s cupboard, vowed to clamp down on Bitcoin mining and buying and selling. Bitcoin worth in India at 12pm IST on June 10 stood at 26.8 lakhs.

The public safety ministry stated that by Wednesday afternoon police had busted greater than 170 felony teams concerned in utilizing cryptocurrencies to launder cash.

The cash launderers charged their felony purchasers a fee of 1.5 % to five % to transform unlawful proceeds into digital currencies through crypto exchanges, the ministry stated through its official Wechat account.

China’s Payment & Clearing Association stated on Wednesday that the variety of crimes involving using digital currencies is on the rise.

Because cryptocurrencies are nameless, handy, and international in nature, “they have increasingly become an important channel for cross-border money laundering,” the affiliation stated in a press release.

Cryptocurrencies have already develop into a well-liked technique of fee in unlawful playing actions. Nearly 13 % of playing websites assist using digital currencies, and blockchain expertise has made it harder for authorities to trace the cash, in keeping with the affiliation.

© Thomson Reuters 2021


Interested in cryptocurrency? We focus on all issues crypto with WazirX CEO Nischal Shetty and WeekendInvesting founder Alok Jain on Orbital, the Gadgets 360 podcast. Orbital is out there on Apple Podcasts, Google Podcasts, Spotify, Amazon Music and wherever you get your podcasts.



Source hyperlink

Daily Tech News

Mi 11 Lite स्मार्टफोन भारत में हुआ लॉन्च, 8 GB रैम वाले फोन की ये है कीमत

Published

on


चीन की पॉपुलर स्मार्टफोन कंपनी Xiaomi ने अपने लेटेस्ट फोन Mi 11 Lite को भारत में लॉन्च कर दिया है. ये शाओमी का अब तक का सबसे स्लिम फोन है, साथ ही वजन में भी काफी हल्का है. कंपनी ने इस फोन को दो वेरिएंट में उतारा है. इसके 6 GB रैम और 128 GB इंटरनल स्टोरेज वाले वेरिएंट की कीमत 20,499 रुपये तय की गई है, जबकि फोन के 8 GB रैम और 128 GB इंटरनल स्टोरेज वाले वेरिएंट को आप 22,499 रुपये में खरीद सकेंगे.

ये हैं ऑफर्स
इस फोन पर शानदार ऑफर भी दिए जा रहे हैं. फोन पर एचडीएफसी बैंक की तरफ से 1,500 रुपये तक की छूट दी जा रही है. अगर आप ये फोन खरीदना चाहते हैं तो कंपनी की ऑफिशियल स्टोर के अलावा फ्लिपकार्ट और दूसरे बड़े रिटेलर्स से खरीद सकते हैं. इसके लिए आप 25 जून से प्री-ऑर्डर कर सकेंगे. साथ ही 28 जून से फोन की बिक्री की जाएगी. शाओमी का ये फोन तीन कलर ऑप्शंस में अवेलेबल है, जिसमें टसकनी कोरल, जैज ब्लू और विनाइल ब्लैक कलर शामिल हैं.

स्पेसिफिकेशंस
Mi 11 Lite स्मार्टफोन में 6.55 इंच का फुल HD+ AMOLED डिस्प्ले दिया गया है. साथ ही इसमें 90Hz का रिफ्रेश रेट और Gorilla Glass 5 का प्रोटेक्शन दिया गया है. फोन क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 732G प्रोसेसर से लैस है. ये फोन एंड्रॉयड 11 ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करता है. इस फोन में 8 GB रैम और 128 GB इंटरनल स्टोरेज दी गई है.

कैमरा
फोटोग्राफी की बात करें तो Mi 11 Lite फोन में ट्रिपल रियल कैमरा सेटअप दिया गया है, जिसका प्राइमरी कैमरा 64 मेगापिक्सल का है. 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रा वाइड एंगल लेंस और 5 मेगापिक्सल का टेलीफोटो-मैक्रो लेंस दिया जाएगा. सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए 16 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है.

पावर और कनेक्टिविटी
पावर के लिए फोन में 4250mAh की बैटरी दी जाएगी, जो 33 वॉट फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करती है. इस फोन में साइड माउटेंड फिंगरप्रिंट सेंसर और डुअल स्टीरियो स्पीकर्स जैसे शानदार फीचर्स दिए गए हैं. कनेक्टिविटी के लिए फोन में ब्लूटूथ, वाई-फाई, जीपीएस और यूएसबी जैसे फीचर्स हैं. ये शाओमी का अब तक का सबसे हल्का फोन है. इका वजन महज 157 ग्राम है. 

OnePlus Nord CE 5G से होगा मुकाबला
Xiaomi Mi 11 Lite का भारत में OnePlus Nord CE 5G स्मार्टफोन से मुकाबला होगा. इस फोन में 6.43 इंच का AMOLED डिस्प्ले दिया गया है. फोन Qualcomm Snapdragon 750G प्रोसेसर से लैस है. फोन में जबरदस्त कैमरे दिए गए हैं. इसमें 64MP का प्राइमरी कैमरा, 8MP अल्ट्रावाइड, 2MP डेप्थ सेंसर है. सेल्फी के लिए इसमें 16MP का शानदार कैमरा है.  वनप्लस के इस स्मार्टफोन में 4500mAh की जबरदस्त बैटरी दी गई है. इसकी बैटरी Warp Charge 30T को सपोर्ट करती है. इसके के 8GB रैम और 128GB स्टोरेज वाले वेरिएंट की कीमत 24,999 रुपये है.

ये भी पढ़ें

Samsung Galaxy M32 Launch: 14,999 रुपये की कीमत के साथ सैमसंग ने लॉन्च किया नया स्मार्टफोन, जानें स्पेसिफिकेशंस

Vivo V21e 5G Launch Date: भारत में 24 जून को लॉन्च होगा वीवो का ये स्मार्टफोन, OnePlus Nord CE 5G से होगा मुकाबला



Source hyperlink

Continue Reading

Daily Tech News

SC approves in toto govt transfer on CBSE, ICSE Class 12 exams – Times of India

Published

on


NEW DELHI: Bringing finality on cancellation of CBSE and ICSE Class 12 examinations and placing an finish to all controversy on the inner evaluation scheme for evaluating college students, the Supreme Court on Tuesday authorised in toto the choice taken by Centre and the 2 boards whereas dismissing all of the objections raised by dad and mom and college students.

A bench of Justices A M Khanwilkar and Dinesh Maheshwari, which had earlier authorised the choices in precept, handed the formal order and introduced the litigation pertaining to CBSE and ICSE board examination to an finish. The courtroom stated a aware resolution was taken on the highest stage of the federal government to not maintain examinations in view of the pandemic and no fault may very well be discovered within the resolution.

The bench heard and examined all of the objections raised by dad and mom and college students however got here to the conclusion that there was no have to tinker with the choices taken by the boards and the Centre.

Congratulations!

You have efficiently solid your vote

The courtroom was initially in favour of granting just one choice to the scholars — both to go for evaluation or be able to take the examination as pleaded by a dad and mom’ affiliation. But legal professional normal Okay Okay Venugopal stated it was not in the advantage of the scholars and it may very well be counterproductive. He stated the current coverage to go for each the choices is finest for the scholars.

“Assessment of all the students will be done and they will also be given liberty to opt for examination when it will be conducted. Depriving them of one option would be counterproductive and against the interest of the students,” he stated.

The courtroom additionally turned down the proposal for a uniform analysis scheme to be adopted by all boards after the federal government stated it was not doable as there are 32 state boards along with CBSE and ICSE. Venugopal instructed the courtroom that every one the boards are autonomous and empowered to formulate their very own scheme for moderation of marks.

The AG stated lives of scholars are valuable and can’t be put in peril by compelling them to seem in examination through the pandemic. He stated in case of any loss of life, the federal government and the board may very well be sued by the dad and mom.

Dismissing the objections of oldsters and college students, the courtroom stated there can be extra uncertainty if their recommendations have been accepted. The bench will now look at the plea for scrapping of exams carried out by state boards. Out of all states, solely Kerala authorities has to this point favoured conducting exams.





Source hyperlink

Continue Reading

Daily Tech News

जानिए क्या है संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस का उद्देश्य

Published

on


संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस हर साल 23 जून को मनाया जाता है. संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 2003 के रिजोल्युशन A/RES/57/277 में नामित किया गया था. इसका उद्देश्य समुदाय के लिए सार्वजनिक सेवा के मूल्य और गुण को पहचानना और विकास प्रक्रिया में लोक सेवा के योगदान के बारे में बताना है. इसके द्वारा लोक सेवकों के काम को मान्यता मिलती है. इसके अलावा यह युवाओं को सार्वजनिक क्षेत्र में करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित करता है.

संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस का इतिहास

संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद की ओर से लोक सेवा दिवस पर लोक सेवा की भूमिका, प्रतिष्ठा और दृश्यता बढ़ाने के लिए किए गए योगदान के लिए संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं. इस दिन अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन ने श्रम संबंधों पर कन्वेंशन (लोक सेवा), 1978 (नंबर 151) को अपनाया था. यह कन्वेंशन दुनिया भर में सभी सिविल सेवकों की कामकाजी परिस्थितियों को निर्धारित करने के लिए एक रूपरेखा तैयार करता है.

संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस के मौके पर कार्यक्रम का आयोजन

संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस 2021 के उपलक्ष्य में संयुक्त अरब अमीरात की सरकार के सहयोग एक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. इसके लिए संयुक्त अरब अमीरात की सरकार के सहयोग से संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग के सार्वजनिक संस्थानों और डिजिटल सरकार का विभाग 1.5 घंटे के वर्चुअल कार्यक्रम की मेजबानी करेगा. 

23 जून को संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस 2021 के मौके पर “भविष्य की लोक सेवा का नवाचार: SDGs तक पहुंचने के लिए एक नए युग के लिए नए सरकारी मॉडल” विषय के तहत कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. यह आयोजन लोक सेवकों के काम का सम्मान करने के लिए प्रमुख हितधारकों, लोक सेवकों और संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों को एक साथ लाएगा.

आयोजन का उद्देश्य

यह आयोजन सार्वजनिक सेवाओं के वितरण में नवाचार और प्रौद्योगिकी द्वारा निभाई जाने वाली तेजी से केंद्रित भूमिका पर प्रकाश डालेगा. कार्यक्रम के दौरान भविष्य की सार्वजनिक सेवा को एक नए युग के लिए बेहतर तरीके से कैसे तैयार किया जाए इस पर भी चर्चा की जाएगी, जिससे कि 2030 के सतत विकास लक्ष्यों तक पहुंचा जा सके.

इसे भी पढ़ेंः
दिल्ली दौरे पर नीतीश कुमार बोले- आंखों का इलाज कराने आया हूं, केंद्र में कैबिनेट विस्तार को लेकर कही ये बात

चिराग पासवान का अपने समर्थकों के नाम खुला पत्र- लोक जनशक्ति पार्टी हमारी थी और हमारी रहेगी



Source hyperlink

Continue Reading

Trending